in

सही समय पर अगर देखभाल ना किया गया तो नष्ट हो जाएंगे बेतिया नप के..

बेतिया: नगर परिषद ने अगर समय रहते ध्यान ना दिया तो, नगर परिषद के लाखों रुपए की संसाधन यूं ही नष्ट हो जाएंगे। जो कितने सालों से यूं ही खुले में पड़े हुए हैं, वैसे तो बेतिया नगर परिषद में संसाधनों की कमी है। और जो है भी वह भी बिना देखरेख के अभाव में नष्ट हो रहे हैं। नगर परिषद की संसाधनों को सुरक्षित रखने की चिंता ना तो नगर प्रशासन को है ना ही शहर के किसी वार्ड पार्षद की ध्यान है। 

सही समय पर अगर देखभाल ना किया गया तो नष्ट हो जाएंगे बेतिया नप के.. 1


हम आपको यह बता दे की बेतिया नगर परिषद में जमीन की कोई कमी नहीं है, अगर नगर परिषद प्रशासन चाहे तो नगर परिषद के जमीन पर शेड बनवाकर संसाधनों को सुरक्षित रख सकते हैं। पर अफसोस कई महत्वपूर्ण संसाधनों उपलब्ध होने के बावजूद भी बिना देखरेख की वजह से जंग खाकर ध्वस्त होने की कगार पर है।
नगर परिषद के  उत्तरी दिशा में खुले में रहने की वजह से  एक JCB, एक ट्रैक्टर, दो शौचालय जबकि  हाल ही में  खरीदे गए दर्जनभर ट्रैक्टर ट्रेलर खुले में आने का वजह से खराब हो रहे है..


बेकार हुए फॉकिंग मशीन बेतिया मैं बड़ा मच्छरों का प्रकोप।

बेतिया नगर प्रशासन ने कुछ साल पहले बेतिया में मच्छरों से छुटकारा दिलाने हेतु हर एक  वार्ड के लिए फॉगिंग मशीन की खरीदारी की थी। मतलब बेतिया के सभी 39 वाडो के लिए 39 फॉगिंग मशीन की खरीदारी हुई थी। पर अफसोस रखरखाव के अभाव में सभी 39 फॉगिंग मशीन खराब हो गए हैं। और इस का सबसे बड़ा वजह यह है कि बेतिया के सभी फॉगिंग मशीन का उपयोग नहीं हो पाना हैं। 
मैं बेतिया के वार्ड नंबर 14 मैं रहने वाला हूं, और जहां तक मुझे याद है मेरे वार्ड में मैंने बस एक ही बार फॉगिंग मशीन का उपयोग होते हुए देखा है, वह भी काफी साल पहले..

नियमानुसार इन मशीनों का उपयोग ना होना तथा सर्विसिंग ना होना सबसे बड़ा कारण है के बेतिया के सभी के सभी फागिंग मशीन खराब हो गई है, बेतिया इन दिनों मच्छरों के प्रकोप से काफी परेशान हैं।।

बेतिया को नगर निगम बनाने की मांग कुछ सालों से उठती चली आ रही है, पर अभी तक इस पर कोई कदम नहीं उठाया गया। बेतिया की आबादी व जनसंख्याओ को मद्देनजर रखते हुए बेतिया को नगर निगम बनने की दरकार रखता है। लेकिन नगर परिषद द्वारा आवश्यक मानदंड नहीं दिए जाने के कारण शहर को नगर निगम की सुविधा तथा दर्जा से अभी तक वंचित रह गया है।        

          हम आपको यहां बताते चलें कि बेतिया अभी नगर परिषद है और नगर निगम के सभी सुविधा तथा दर्जा से अभी तक वंचित रह गया है। बेतिया अभी नगर परिषद है क्योंकि बेतिया में अभी 39वार्ड हैं जबकि नगर निगम बनने के लिए 40 वार्डों का होना जरुरी होता है।।

What do you think?

Written by Md Ali

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बेतिया के इस बहुप्रतिभावान कॉमेडियन,अभिनेता,एंकर जिनके बारे में आप है बेखबर॥

बेतिया मेडिकल कॉलेज, क्या हो रहा है छात्रों के कैरियर से खिलवाड़??..