in , , , ,

BSEB Result: वर्षा बनी जिला टॉपर, संत तरेसा स्कूल का रहा दबदबा..जिले में 74% छात्रों को मिली क़ामयाबी

बेतिया: लंबे इंतजार के बाद आखिरकार बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने मंगलवार की शाम मैट्रिक परीक्षा का परिणाम घोषित कर दिया। गत वर्ष की अपेक्षा इस बार का परीक्षा परिणाम काफी बेहतर रहा।

BSEB Result: वर्षा बनी जिला टॉपर, संत तरेसा स्कूल का रहा दबदबा..जिले में 74% छात्रों को मिली क़ामयाबी 1


इस बार मैट्रिक परीक्षा में  लागू 50 फीसद वैकल्पिक प्रश्नों ने परीक्षार्थियों की  राह आसान कर दी। पश्चिम चंपारण जिले का परीक्षा परिणाम भी इस बार गत वर्ष की तुलना में 14.79
फीसद अधिक रहा है। पिछले साल जिले का रिजल्ट
59 फीसद था जो इस बार बढ़कर 73.79 हुआ है। यह
जिले के लिए खुशी की बात है।

जिले(पश्चिमी चम्पारण) के टॉपर्स

  • 1- वर्षा कुमारी (441/500अंक) संत तरेसा स्कूल, बेतिया
  • 2- स्मृति श्री (437/500अंक) संत तरेसा स्कूल, बेतिया
  • 2- सईदूर रहमान (437/500अंक) गवर्नमेंट हाईस्कूल, बैसखवा 
  • 3- राकेश कुमार (434/500अंक) विक्टोरिया मिशन गहीरी
  • 4- इम्तेयाज अंसारी (433/500अंक) आरडीएस हाईस्कूल अमवामझार
  • 4- वंदना कुमारी (433/500अंक) संत तरेसा स्कूल, बेतिया
  • 5- अय्याज अहमद (430/500अंक) हाईस्कूल, हरिनगर
BSEB Result: वर्षा बनी जिला टॉपर, संत तरेसा स्कूल का रहा दबदबा..जिले में 74% छात्रों को मिली क़ामयाबी 2

पासिंग ग्राफ में 15% की हुई बढ़ौतरी
जिले में इस बार मैट्रिक की परीक्षा का  परिणाम विगत साल की तुलना में काफी  बेहतर रहा। इस बार का परीक्षाफल पिछले  साल की तुलना में 15 फीसद अधिक रहा।  हालांकि इस बार प्रथम श्रेणी पाने वाले  परीक्षार्थियों की संख्या में गिरावट देखी गई। पिछले साल जहां 9412 परीक्षार्थी प्रथम
श्रेणी से उत्तीर्ण हुए थे वहीं इस बार यह  संख्या घटकर 7386 पर सिमट कर रह गई। हालांंकि, पासिंग का ग्राफ बढ़ा है।

परीक्षा परिणाम एक नजर में।
कुल परीक्षार्थी- 46338
कुल पास छात्र- 20260
कुल पास छात्राएं- 13935
प्रथम श्रेणी छात्र- 4841
प्रथम श्रेणी छात्राएं- 2545

What do you think?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बेतिया छावनी ढाला पर चाकू से गोदकर मैट्रिक छात्र की निर्ममतापूर्ण हत्या। तमाशबीन बने रहें लोग

सागर पोखरा के किनारे से हटाया गया अतिक्रमण, पक्के निर्माण पर चला बुल्डोजर