in

फिर से दहला चंपारण: बेख़ौफ़ अपराधियों ने सरेआम व्यवसायी को AK47 से भुना

मेतिहारी: पहली घटना नगर थाना क्षेत्र के अगरवा मोहल्ला में हुई।
फिर से दहला चंपारण: बेख़ौफ़ अपराधियों ने सरेआम व्यवसायी को AK47 से भुना 1
जहाँ तीन बाइक सवार अपराधियों ने अगरवा के त्रिलोकी नाथ मंदिर के नजदीक वीर चौक पर एक घंटे के अंदर दो बार फायरिंग कर लोगो मे दहसत फैला दिया। मोहल्ला के लोग डरे हुए है और कुछ भी बोलने को तैयार नहीं थे, लोग दबी जुबान से बोल रहे थे। तभी सूचना मिली कि छतौनी में AK47 से व्यवसायी की हत्या कर दी गई है।
अगरवा में हुई फायरिंग छतौनी में हत्या से पहले पुलिस की ध्यान भटकाने के उद्देश्य से की गई है।अपराधियों ने छतौनी में हत्या के बाद एक पर्चा भी फेका है। इधर हत्या की जिम्मेवारी दीपक पासवान ने लिया है।
फिर से दहला चंपारण: बेख़ौफ़ अपराधियों ने सरेआम व्यवसायी को AK47 से भुना 2
यहाँ बता दे की बाइक सवार बदमाशों ने सोमवार की रात मोतिहारी के छतौनी बस स्टैंड के छतौनी-ढाका रोड स्थित राजू किराना स्टोर्स के मालिक इंद्रजीत प्रसाद जायसवाल (56) को गोलियों से भून डाला। इसके बाद पर्चे फेंकते हुए भाग निकले। घटना से लोगों में दहशत व पुलिस के खिलाफ आक्रोश है।
स्थानीय लोगों के मुताबिक, बाइक सवार बदमाशों ने रात करीब 10 बजे अचानक आकर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। उस वक्‍त इंद्रजीत प्रसाद दुकान पर ही बैठे थे। उनकी घटनास्‍थल पर ही मौत हो गई। इसके बाद वहां अफरातफरी मच गई। वहां जुटी भीड़ ने पुलिस गश्त की कमी और सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाया।
हालांकि, पुलिस टीम ने बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी तेज कर दी है। लोगों को भरोसा दिया कि अपराधियों को हर हाल में गिरफ्तार किया जाएगा। पुलिस ने पर्चे व खोखे को जब्त कर लिया है। घटना के बाद शहर में दहशत है। लगातार हो रही घटनाओं से लोग खफा हैं।
मोतिहारी ढाका रोड स्थित किराना व्यवसायी इन्द्रजीत प्रसाद जयसवाल की हत्या अपराधियों ने क्यूँ किया है इसका अभी तक खुलासा नही हो सका है। मृतक स्व जायसवाल के छोटे पुत्र हीरालाल जायसवाल ने बताया की हमारी किसी से किसी भी प्रकार की दुश्मनी नही थी। अपराधियों द्वारा कोई रंगदारी की मांग नही की गई थी।जबकि घटना स्थल से पर्चा बरामद हुआ है।

जिसमें दीपक पासवान नामक अपराधी ने घटना की जिम्मेवारी ली है।घटना के समय मौजूद किराना दुकान का स्टाफ बताता है की तीन मोटर साइकिल पर छः अपराधी सवार थे। जिसमें एक काला रंग का पल्सर एंव एक उजला रंग का अपाची गाड़ी था, एक को नहीं पहचान सका। 
अपराधी पर्चा फेकते समय दीपक पासवान जिंदाबाद का नारा लगाया। जानकारी के अनुसार दीपक मोतिहारी कमिटी चौक का रहने वाला है,जो पहले भी कई घटना में जेल जा चूका है।दीपक पहले मोतिहारी केंद्रीय कारा में बन्द ढाका निवासी शातिर अपराधी राजू मियां गिरोह में काम करता था।
दीपक पासवान वर्षो पहले मोतिहारी की एक लड़की को जबरन अगवा कर कुछ दिनों तक मुज़फ्फरपुर में रखा था।जिसका खुलासा पुलिस द्वारा लड़की को मुक्त कराने के बाद लड़की ने की थी।
इन्द्रजीत प्रसाद की हत्या के बाद एसपी जीतेन्द्र राणा एंव डीएसपी पंकज रावत ने अपने नेतृत्व में छापामारी शुरू कर दी है।
एसपी जीतेन्द्र राणा से हमारी बात कल देर रात्रि में मोतिहारी के बंगाली कॉलोनी में मुलाकात के क्रम में हुई। घटना के बारे में पूछे जाने पर एसपी द्वारा बताया गया की एक आपराधी की गिरफ्तारी हुई है एंव आपराधियों के गिरफ़्तारी के लिए छापा मारी जारी है।

फिर से दहला चंपारण: बेख़ौफ़ अपराधियों ने सरेआम व्यवसायी को AK47 से भुना 3

मालूम हो की उक्त किराना व्यवसायी मूल रूप से पकड़ीदयाल (जगतिया) का रहने वाले है, जो करीब पन्द्रह वर्षो से मोतिहारी मठिया में अपना मकान बना कर रहने का काम करते थे।
मृतक इन्द्रजीत जायसवाल शुरूआती दौर में कड़ी परिश्रम के बाद थोड़ा आगे बढ़ने का काम किये थे।वे काफी मृदुभाषी एंव मिलनसार व्यक्ति थे। वे अपने पिछे अपनी पत्नी, दो पुत्र राजू जायसवाल, हीरालाल जायसवाल एंव पतोहू, एक पुत्री पम्मी जायसवाल, दामाद रामचंद्र जायसवाल सहित पोता-पोती, नाती-नतिनी को छोड़ गए है।।

स्रोत: दैनिक खोज ख़बर

What do you think?

Written by Md Ali

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मीना बाजार से 40 हजार नगद व बाइक लेकर कर्मी फरार

मेडिकल कॉलेज में होने वाली एक घटना टली, एम्बुलेंस में सवार हो के आया था अपराधी