in

नाम कमाने के लिए दी मंत्री को जान से मारने और चनपटिया थाना उड़ाने की धमकी..

बेतिया: बिहार के गन्ना व उद्योग मंत्री खुर्शीद आलम से रंगदारी मांगने के आरोपी को 24 घंटे के भीतर पटना पुलिस ने बेतिया से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने एसएमएस भेजकर 10 लाख की रंगदारी मांगी थी और न देने पर पूरे परिवार को उड़ा देने की धमकी दी थी। 

नाम कमाने के लिए दी मंत्री को जान से मारने और चनपटिया थाना उड़ाने की धमकी.. 1

पटना के एसएसपी मनु महराज ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि आरोपी का नाम पप्पू कुमार है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। वैज्ञानिक तरीके से अनुसंधान के क्रम में वह पकड़ा गया। बता दें कि शनिवार को राज्य के गन्ना व उद्योग मंत्री खुर्शीद आलम को एसएमएस भेज 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगने का एसएमएस आया था। एसएमएस भेजने वाले ने रकम नहीं मिलने पर पूरे परिवार को बम से उड़ा देने की धमकी भी दी थी। इस बाबत मंत्री ने शनिवार को सचिवालय थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी।  
बता दें के बिहार सरकार के गन्ना मंत्री खुर्शीद अहमद उर्फ फिरोज अहमद को एसएमएस भेज कर दस लाख की रंगदारी मांग कर हड़कंप मचाने वाला शख्स पप्पू कुमार यादव को बेतिया से पटना पुलिस की टीम ने 12 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया. वह बेतिया के मुफ्फसिल थाने के करगहिया का रहने वाला है. पुलिस ने इसके पास से सिम कार्ड व मोबाइल फोन बरामद कर लिया है. इस घटना को अंजाम देने में एक दोस्त पप्पू कुमार की भी मिलीभगत सामने आयी है, जिसे बेतिया पुलिस पहले ही नौ जून को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है. इसी पप्पू के नाम पर सिम कार्ड थी और पप्पू यादव ने मैसेज किया था. दोनों ही बेरोजगार है. 

पकड़े जाने के बाद पप्पू यादव से जब पटना पुलिस की टीम ने पूछताछ की तो यह जानकारी मिली कि उन लोगों ने कई एसपी, पुलिस अधिकारी, जिला प्रशासन के अधिकारियों को इसी तरह का धमकी भरा मैसेज किया था, ताकि उनका नाम हाइलाइट हो जाये और लोग उसे जाने. इन लोगों ने बेतिया एसपी को भी मैसेज किया था और चनपटिया थाना उड़ाने की धमकी दी थी. इसके बाद ही पप्पू कुमार को बेतिया पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. हालांकि, उस समय तक पप्पू यादव का नाम सामने नहीं आया था. क्योंकि वह सिम धारक नहीं था. 

गन्ना मंत्री को धमकी भरा मैसेज मिलने के बाद एसएसपी मनु महाराज के निर्देश पर सिटी एसपी मध्य चंदन कुशवाहा के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया गया, तो यह जानकारी मिली कि इस धमकी भरे मैसेज भेजने वालों में पप्पू का दोस्त पप्पू यादव भी शामिल है. 

मैसेज में चार लोगों का क्यों दिया नाम 
इन लोगों ने मैसेज में  चार लोगों के नाम दिये थे. अब पटना पुलिस बेतिया पुलिस द्वारा पकड़े गये पप्पू यादव को रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी, ताकि इस बात की जानकारी हो सके कि दोनों ने उन सभी का नाम धमकी भरे मैसेज में क्यों दिया था? वे चारों लोग कौन हैं और उनसे उन लोगों की क्या दुश्मनी थी. यह रिमांड पर लेने के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा. एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि धमकी देनेवाले शातिर को गिरफ्तार कर लिया गया है. विदित हो कि तीन जून को ही मैसेज कर गन्ना मंत्री से दस लाख की रंगदारी नहीं देने पर उन्हें और उनके पूरे परिवार को बम से उड़ाने की धमकी दी गयी थी. उक्त मैसेज को शनिवार को गन्ना मंत्री ने देखा था.

What do you think?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नहीं मिल रहा न्याय, पुलिस की विफलता से जनता ने किया कैंडल मार्च कर दिखाई नराजगी।।

बैरिया में आज हादसे में हुई तीन बच्चियों की मौत।।