in , , ,

नरकटियागंज के युवक ने किया कमाल, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया सम्मानित..जरूर पढ़े

अब बिना प्रोसेसिंग किए ही दूध को घंटों सुरक्षित रखा जा सकेगा। वह भी दूध निकालने वाले बाल्टी में ही।

नरकटियागंज के युवक ने किया कमाल, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया सम्मानित..जरूर पढ़े 1

नरकटियागंज के हरसरी के किसान के बेटे रवि प्रकाश द्विवेदी ने ऐसी बाल्टी बनाई है। इस बाल्टी में दूध समेत उससे बने प्रोडक्ट को घंटों सुरक्षित रखा जा सकेगा। इस रिसर्च के लिए उसे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पुरस्कृत किया है।
वहीं भारत सरकार की गांधीयन यंग टेक्नोलॉजी इनोवेशन (जीवाईटीआई) 2018 की पुस्तक में इसे जगह दी है। बता दें कि संस्था प्रत्येक साल भारत के टॉप-15 रिसर्च को किताब में जगह देती है।

रवि ने ‘हिन्दुस्तान को बताया कि वह राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान, बंगलुरु में पीएचडी के स्कॉलर छात्र के रूप में पढ़ाई कर रहा है। बाल्टी का नाम उसने दुग्ध प्रशीतक रखा है। इसका निर्माण फैज चेंज मेटेरियल पर आधारित है। इस कारण इसमें दूध या अन्य उत्पाद डालते ही ठंडा होने लगता है। इससे बाल्टी में रखा उत्पाद घंटों सुरक्षित रह सकता है। इसमें दुग्ध उत्पादों को भी लंबे समय तक सुरक्षित रखने के साथ उनकी गुणवत्ता में बढ़ोत्तरी की जा सकती है।


रिसर्च से भारतीय डेयरी उद्योग में क्रांति आएगी। बाल्टी की मदद से विदेश में भी भारतीय दुग्ध उत्पादों का निर्यात किया जा सकेगा। रिसर्च पर राष्ट्रपति ने रवि को मोमेंटो, सर्टिफिकेट व 15 लाख रुपये देकर सम्मानित किया है।
ग्रामीण स्कूल में मिली प्रारंभिक शिक्षा, रवि की प्रारंभिक व माध्यमिक शिक्षा पैतृक गांव व रेलवे हाई स्कूल, नरकटियागंज हुई।


इंटर की पढ़ाई उसने बेतिया के एमआरआरजी कॉलेज से पूरी की। इसके बाद उसका चयन नेशनल डेयरी रिसर्च के लिए हुआ। रवि अपनी सफलता का श्रेय दादा रामचन्द्र द्विवेदी, पिता अरविंद द्विवेदी, चाचा अरुण द्विवेदी व अनिल कुमार द्विवेदी को दिया। उनका कहना है परिवार के सदस्यों के प्रोत्साहन से ही वह रिसर्च करने में सफल रहा।

What do you think?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बेतिया मेडिकल कॉलेज में शुरू हुई, पारामेडिकल की पढ़ाई..मिले 95सीट

बिहार दिवस पर बेतिया के आलोक अगस्टिन को बेहतरीन कार्य के लिए किया गया सम्मानित