in

जानिए! चम्पारण से जाने वाली कौन सा ट्रेन है कितना घंटा लेट

जानिए! चम्पारण से जाने वाली कौन सा ट्रेन है कितना घंटा लेट 1

मोतिहारी : पिछले एक सप्ताह से जारी शीतलहर व घने कोहरे की कहर ने जहां आम जनजीवन को बुरी तरह प्रभावित किया है. वहीं ट्रेनों की रफ्तार पर भी ब्रेक सा लगाया दिया है.
इसके चलते मुज़फ्फ़रपुर-नरकटियागंज रेलखंड से गुज़रने वाली सभी ट्रेनों का परिचालन बुरी तरह प्रभावित हुआ. लंबी दूरी की ट्रेनों पर सबसे बुरा प्रभाव पड़ा है.
रविवार को जम्मुतवी से गोहाटी जाने वाली 15654 अमरनाथ एक्सप्रेस जहां 23 घंटे लेट रही, वहीं आनंद विहार से मुज़फ्फ़रपुर जाने वाली 12558 सप्तक्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस क़रीब 13 घंटे विलम्ब से चलने की सूचना है.
इसके अलावा 19040 अवध असम 19 घंटे, 14010 चम्पारण सत्याग्रह एक्सप्रेस 6 घंटे, 15002 देहरादून एक्सप्रेस 7 घंटे, राप्ति गंगा एक्सप्रेस 10 घंटे, 15212 जननायक एक्सप्रेस 14 घंटे व 15211 जननायक एक्सप्रेस 10 घंटे लेट चली.
इसके अतिरिक्त इस खंड पर चलने वाली 55220, 55211, 55213, 55209 सहित सभी पैसेंजर ट्रेनों के लेट चलने से यात्रियों को खासा परेशानियों का सामना करना पड़ा. दर्जनों ट्रेनों के विलम्ब से चलने कारण दिन भर स्टेशन पर यात्रियों का भीड़ रही. ट्रेन के इंतज़ार में यात्री कड़ाके की ठंड और शीतलर से जुझते नज़र आये. यात्रियों के लिए कहीं से कोई अलाव की व्यवस्था नहीं किया गया. जिसके चलते उन्हें अधिक कष्ट झेलना पड़ा.
पटाखा सिग्नल का हो रहा है इस्तेमाल
कोहरे के कारण रात में ट्रेन के परिचालन में सबसे ज्यादा परेशानी हो रही है. कई बार ऐसा हो रहा कि ट्रेन के चालक को सिग्नल दिखाई ही नहीं पड़ता. इससे निपटने के लिए रेल प्रशासन द्वारा पटाखा सिग्नल का इस्तेमाल किया जा रहा है. प्रथम रोक सिग्नल से 270 मिटर आगे रेल ट्रैक पर पटाखा लगाया जा रहा है. ट्रेन की पहिया पड़ते ही पटखा फट पड़ता है. पटाखे की आवाज सुनकर चालक अपनी गाड़ी धीमी कर लेता है.
मिथिला एक्सप्रेस रही रद्द
भारी विलम्ब के चलते रविवार को मिथिला एक्सप्रेस रविवार को रद्द कर दिया गया. ताकि अगले दिन से ट्रेनों का परिचालन सही समय पर हो सके.

What do you think?

Written by Md Ali

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

‘चम्पारण का लाल’ अनुराग सावर्णि बने आर्मी ऑफिसर

बेतिया में तस्करी की गयी कपड़े जब्त