in

चीन के धरती पर लौरिया के लाल ने मचाया धमाल..पश्चमी चम्पारणवासियों को किया गर्वित

बेतिया। भारत-चीन संबंधों की तल्खी कम होने के साथ ही सुखद समाचार यह भी है कि चीन की धरती पर जाकर चंपारण के लाल ने अपनी खेल प्रतिभा से जमकर धमाल मचाया है। 

चीन के धरती पर लौरिया के लाल ने मचाया धमाल..पश्चमी चम्पारणवासियों को किया गर्वित 1


चीन की धरती पर आयोजित अंतरराष्ट्रीय रोलर स्केटिंग टूर्नामेंट में पश्चिम चंपारण के लौरिया प्रखंड अंतर्गत धोबनी धर्मपुर पंचायत के कालाबरवा गांव निवासी नईमुर ने बेस्ट डिफेन्डर का खिताब हासिल किया। नईमुर के साथ पूरी भारतीय टीम ने अंगोला को पूरी तरह परास्त करने के साथ ही चीन को भी उसकी धरती पर कड़ी शिकस्त दी। हालांकि, अमेरिका से दोनों मैच हार जाने के बाद भी भारतीय टीम तीसरे स्थान पर रही। चीन में आयोजित इस प्रतियोगिता में भारतीय टीम ने अपने जबरदस्त प्रदर्शन से 2019 में होनेवाले बर्सीलोना कप के लिए भी क्वालीफाई कर लिया है। नईमुर ने जानकारी दी है कि भारत ने चीन में कुल छह मैच खेले, जिसमें अमेरिका के साथ वह दोनों मैच हार गया। वहीं अंगोला के साथ हुए दोनों मैच उसने जीत लिए। जबकि दो मैच चीन के साथ भी हुए, जिसमें एक में जीत तो दूसरी में हार। आखिरी मैच जो चीन के साथ हो रहा था उस मैच में करो या मरो वाली स्थिति थी। क्योंकि चीन से एक मैच भारत हार चुका था और दूसरा मैच उसके लिए चीन से जीतना जरूरी था। नईमुर ने फॉरवर्ड पर आकर खेलना शुरू किया और चीन के विरूद्ध ताबड़तोड़ तीन गोल किए। इस मैच में चीन को 12-3 से शिकस्त खानी पड़ी। इस जीत के लिए जी तोड़ मेहनत करनेवाले नईमुर पश्चिम चम्पारण के लौरिया प्रखंड अंतर्गत धोबनी धर्मपुर पंचायत के काला बरवा गांव निवासी ओबैदुर रहमान का पुत्र है। नईमुर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का छात्र है। वह वहां पर पढ़ाई के साथ रोलर स्कैटिंग हॉकी भी खेलता है। अच्छे खेल के दम पर वह भारत की राष्ट्रीय टीम का हिस्सा बना है। 

चीन के धरती पर लौरिया के लाल ने मचाया धमाल..पश्चमी चम्पारणवासियों को किया गर्वित 2


चीन के नैन¨जग शहर में होनेवाले फेडरेशन इंटरनेशनल रोलर स्के¨टग टूर्नामेंट एफआईआरएस के लिए गठित टीम में उसका भी चयन हुआ और नईमुर ने चीन में भी अपनी खेल प्रतिभा का जमकर धमाल मचाया और देशवासियों व खेलप्रेमियों का दिल जीतने में कामयाब हुआ। इधर, क्षेत्र के लोग बेसब्री से उसकी राह देख रहे हैं। वह आये और लोग उसका जोरदार स्वागत करें। 

उसके संबंधी शिक्षक इस्कुल्लाह ने बताया कि इस प्रतियोगिता में हमें गोल्ड मेडल नहीं मिला, उसका अफसोस जरूर है। पर, हमें गर्व है कि हमने देश को उससे भी बड़ा एक गोल्ड दिया है जो देश को आगे भी कई गोल्ड दिलवाएगा।

What do you think?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बड़ी खबर: छावनी में ओवरब्रिज के साथ बनेगा अंडरपास!! 84Cr हुआ फंड पास, पढ़े पूरी खबर …

हत्याकर लूटी 2लाख रुपया, फिर की जलाने की प्रयास..संत घाट की घटना