in

‘चम्पारण का लाल’ अनुराग सावर्णि बने आर्मी ऑफिसर

‘चम्पारण का लाल’ अनुराग सावर्णि बने आर्मी ऑफिसर 1

मोतिहारी : देश सेवा की बात हो या फिर अपनी कुर्बानी देकर सरहद को महफ़ूज़ रखने की, चम्पारण के लाल सबसे आगे बढ़कर हमेशा नए कीर्तिमान स्थापित करते रहे हैं. इसके अनेकों मिसाल कारगिल से लेकर सर्जिकल स्ट्राइक तक देखने को मिल जाएंगे.
देश सेवा के इतिहास में चम्पारण का योगदान स्वर्णिम अक्षरों में अंकित है. आज उसमें एक नवीन अध्याय जोड़ते हुए चम्पारण के लाल अनुराग सावर्णि ने एक कीर्तिमान स्थापित किया है.
श्री सावर्णि ने इन्डियन मिलिट्री एकडेमी देहरादून से ऑफिसर रैंक की आयोजित परीक्षा पास कर न सिर्फ़ अपने माता-पिता व परिजनों को गौरवान्वित किया है, बल्कि चम्पारण का भी नाम रौशन किया है.
बता दें कि श्री सावर्णि का वर्ष 2012 में एन.डी.ए., पुणे में चयन हुआ था और इन्होंने वहां से 2015 में स्नातक की डिग्री प्राप्त की. ये बचपन से ही होनहार व मेधावी छात्र रहे हैं. इनके दादा सरस्वती प्रसाद पांडेय हाई स्कूल के अंग्रेज़ी विषय के अवकाश प्राप्त शिक्षक हैं, जबकि पिता अजीत कुमार पांडेय मोतिहारी में ही इन्कम टैक्स इंस्पेक्टर हैं. इनका पैतृक गाँव पूर्वी चम्पारण के संग्रामपुर है.

What do you think?

Written by Md Ali

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

राष्ट्रीय युवा उत्सव के लिए चम्पारण के उपेन्द्र का चयन : मूर्तिकला के क्षेत्र में पा चुके हैं कई पुरस्कार

जानिए! चम्पारण से जाने वाली कौन सा ट्रेन है कितना घंटा लेट