in

क्या झूठ बोलते आ रहे है संजय जयसवाल?? अँधेरे में है बेतियावासी।

क्या झूठ बोलते आ रहे है संजय जयसवाल?? अँधेरे में है बेतियावासी। 1


बेतिया: कल हुए छावनी चौक पर आन्दोलन जिसमें सीपीआई के कार्यकर्ताओ तथा बेतियावासियो ने स्थानीय सांसद तथा विधायक का विरोध किया और अपना विरोध करने के लिए सप्तक्रांति एवं सत्याग्रह ट्रेन को कुछ घंटो तक रोक के रखा। जिसके बारे में हमने आपको विस्तार से बताया था।
आज सुबह एक सामाजिक कार्यकर्त्ता ने हमे दो विडियो भेजा। जिसमे एक सामाजिक नेता रेलवे के किसी अधिकारी से छावनी ओवर ब्रिज न बनने की सच्चाई जानने की कोशिश कर रहे थे। 
जो विडियो आप यहाँ देख सकते है।




जिसमे की गयी कुछ बातो से हमे मालूम पड़ता है।
जिसमे रेलवे अधिकारी ये बता रहे है की ” ओवर ब्रिज ” न बनने का कारण केंद्र सरकार है तथा ये भी कहा की ओवर ब्रिज बजट में अभी तक केंद्र सरकार की ओर से पैसे नहीं मिला है।और जब तक ” छावनी ओवर ब्रिज ” के बजट में पैसे नहीं मिलेंगे तब तक ओवर ब्रिज का निर्माण होगा।
और इस साल की बजट जो की 1 फरवरी को यानि कल घोषणा होगी।
रेलवे अधिकारी के मुताबिक अगर इस साल के बजट में भी अगर ” छावनी ओवर ब्रिज ” शामिल नहीं होगा। तो ओवर ब्रिज का निर्माण नहीं होगा।
अगर छावनी ओवर ब्रिज के बजट में अभीतक पैसे नहीं आये है और इस बार के भारतीय बजट में अगर छावनी ओवरब्रिज शामिल नहीं होता है।
तो रेलवे अधिकारी और सरकार भारी अंजाम के लिए तैयार रहे।

छावनी ओवर ब्रिज का मुद्दा तब आश्चर्यजनक हो गया जब इस व्यक्ति ने आन्दोलन में शामिल तमाम लोगो को ये बताया की-हमारे सांसद श्री संजय जयसवाल ने हमसे झूठ बोला है की, केंद्र सरकार के द्वारा छावनी ओवरब्रिज पास हो गया है लेकिन ऐसा है नहीं। वे लगातार बेतियावासियो को ये बताते रहे है की छावनी ओवरब्रिज पास हो गया है लेकिन राज्य सरकार द्वारा अड़चन पैदा हो रही है।
        हमलोग तो इस बात से आश्चर्यचकित है की खबर के मुताबिक  ” छावनी जाम ” के चलते पिछले दो महीनो में 5 लोगो की बेवजह मृत्यु हो चुकी है और लगभग हर सातवें-आठवें दिन कोई-न-कोई सामाजिक संगठन या छात्र संगठन या तमाम बेतियावासी आन्दोलन करते आ रहे है। लेकिन इतना के बावजूद हमारे कर्मठ एवं दयनीय सांसद श्री संजय जयसवाल एवं हमारे प्रिय विधायक श्री मदन तिवारी ने इन लोगो की मृत्यु पर एवं लोगो की मांग पर एक शब्द भी नहीं बोला।

What do you think?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अतिक्रमणकारियों पर चला प्रशासन का बुलडोजर

“चम्पारण की माटी” गोरख प्रशाद द्वारा लिखी गयी एक बेहतरीन कविता