in ,

ओवरब्रिज के लिए उग्र होने लगे लोग, छावनी जाम के दुर्घटनाओं में मरे लोगों को दी गयी श्रधांजलि

बेतिया: छावनी ओवरब्रिज के निर्माण को लेकर स्थानीय लोग काफी गम्भीर होते जा रहे हैं,

ओवरब्रिज के लिए उग्र होने लगे लोग, छावनी जाम के दुर्घटनाओं में मरे लोगों को दी गयी श्रधांजलि 1

समाजिक विकाश संगठन द्वारा दूसरी बार की गई आंदोलन से बेतियावासीयों में धीरे-धीरे स्थानीय प्रतिनिधियों के लिए सवाल बढ़ते जा रहे हैं।

ओवरब्रिज के लिए उग्र होने लगे लोग, छावनी जाम के दुर्घटनाओं में मरे लोगों को दी गयी श्रधांजलि 2

सामाजिक विकाश संगठन ने आज एक प्रेस पत्र जारी किया जिसके अनुसार ओवरब्रिज के निर्माण के लिए चलाए जा रहे आन्दोलन के पहले चरण में आज तीसरे दिन काफी लोगो ने आ के इस आंदोलन को समर्थन दिया जिससे उनकी उग्रता स्थानीय साँसद और विधायक के लिए बढ़ती दिखाई दे रही हैं।

ओवरब्रिज के लिए उग्र होने लगे लोग, छावनी जाम के दुर्घटनाओं में मरे लोगों को दी गयी श्रधांजलि 3

अभी कुछ देर पहले ही सामाजिक विकाश संगठन ने छावनी ओवरब्रिज ना होने के वजह से गयी बेकसूर लोगों की आत्मा के शांति हेतु छावनी स्तिथ संजय जयसवाल के पेट्रोल पम्प के पास श्रद्धांजलि दी, जिसमें सैकड़ो लोगों ने हिस्सा लिया।
हम आपको बताते चले के इस अनिश्चित समय वाले आन्दोलन का आज पहला चरण समाप्त हो गया। जिसके समाप्त के समय मे लोगों ने  बेतिया प्रशासन और स्थानीय साँसद श्री संजय जयसवाल जी, और विधायक श्री मदन मोहन तिवारी जी के लिए जमकर नारेबाजी की, जिससे उनका गुस्सा और दर्द साफ झलक रहा था।

ओवरब्रिज के लिए उग्र होने लगे लोग, छावनी जाम के दुर्घटनाओं में मरे लोगों को दी गयी श्रधांजलि 4

आमजनता ने कहा के अगर जल्द छावनी ओवरब्रिज का निर्माण शुरू ना हुआ तो अगले चरण में बेतिया साँसद और विधायक के घरों का घेराव होगा और वहीं पर छावनी ओवरब्रिज की बात भी होगा। अगर चक्का जाम करने की नौबत भी आई तो हम पीछे नहीं हटेंगे। और इस सब की जिम्मेदार बेतिया प्रशासन होगी।


सामाजिक विकाश संगठन के एक कार्यकर्ता ने बोला के अगर संजय जयसवाल और मदन मोहन तिवारी अपने स्तर पर बनवाना ही चाहते हैं तो आकर हमारे साथ आंदोलन का हिस्सा बने। और तब तक हमलोगों का साथ दें जब तक छावनी ओवरब्रिज की नींव ना रखा जाएँ।
अंत मे हम आपको ये बताना चाहेंगे के ये आन्दोलन दिनांक 25दिसम्बर से शुरू हुआ और आज 3रा दिन भी खत्म हो गया।

ओवरब्रिज के लिए उग्र होने लगे लोग, छावनी जाम के दुर्घटनाओं में मरे लोगों को दी गयी श्रधांजलि 5

पर हाल चाल लेने, ना हमारे कर्मठ साँसद जी आये और ना ही जुझारू विधायक जी। सामाजिक विकास संगठन के लोग इस भीषण ठंड में बस कम्बल के सहारे पण्डाल में आंदोलन में बैठे हैं। और अलाव का अभी तक इंतेजाम प्रशासन ने मुहैया नहीं कराया हैं।

सभार:: मिशु कुमार

What do you think?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इस ठंड मौसम में रहनुमाओं से जिलेवासियों के लिए लड़ रहा हैं 75साल का बुजुर्ग

नहीं हैं सँसाधन, फिर भी जिले के खिलाडियों ने किया पश्चिमी चम्पारण को गर्वान्वित..