आज से बेतिया से गोरखपुर के लिए ट्रेने हुई शुरू..जाने लम्बे दुरी वाली ट्रेन कब से होगी शुरू।।

नरकटियगंज-गोरखपुर रेलखंड पर सोमवार को चमुआ तक लाइट इंजन के ट्रायल के बाद शाम साढे़ चार बजे एक माल ट्रेन की रवानगी गोरखपुर के लिए की गयी। इसी के साथ इस रेलखंड पर मंगलवार से पैसेंजर ट्रेनों की आवाजाही का भी अंतिम निर्णय रेल अधिकारियों ने ले लिया है।

आज से बेतिया से गोरखपुर के लिए ट्रेने हुई शुरू..जाने लम्बे दुरी वाली ट्रेन कब से होगी शुरू।। 1

यह जानकारी एसएस लालबाबू राउत ने दी है। उन्होंने बताया कि लाइट इंजन से सीनियर डीइएन टू आरएन झा, पीडब्लूआई सुरेंद्र प्रसाद, सीएचआइ अशोक कुमार, उमेश कुमार आदि अधिकारी जीर्णोद्धार की गयी रेल लाइन से होते हुए चमुआ तक गए। हालांकि संवाद प्रेषण तक यह तय नहीं हो सका है कि पैसेंजर ट्रेनों के परिचालन का समय क्या होगा। इस बीच समस्तीपुर रेलमंडल के डीआरएम का आगमन मंगलवार को होने की जानकारी रेल सूत्रों ने दी है। माना जा रहा है कि डीआरएम के आगमन के बाद नरकटियागंज गोरखपुर रेलखंड पर पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन आरंभ हो जाएगा।


बेतिया जिले में आयी प्रयलंकारी बाढ़ के कारण मुजफ्फरपुर-गोरखपुर रेलखंड पर पूरी तरह से रेल परिचालन बंद हो गया था. एक माह बाद पुन: इस रेलखंड पर रेल गाड़ियों का परिचालन मंगलवार से शुरू हो गया. मुजफ्फरपुर से आनंद विहार जानेवाली सप्तक्रांति सुपर फास्ट  व मुजफ्फरपुर से बांद्रा जानेवाली अवध एक्सप्रेस अपने गंतव्य स्थान की ओर प्रस्थान की. वहीं, आनंद विहार से चल कर मुजफ्फरपुर जाने वाली संप्तक्रांति भी बेतिया स्टेशन पर पहुंची. एक माह के बाद लंबी दूरी तक जानेवाली गाड़ियों के परिचालन शुरू होने से बेतिया रेलवे स्टेशन पर भारी संख्या में यात्रियों की भीड़ उमड़ी रही. आलम यह रहा कि दोनों गाड़ियों में काफी भीड़ का नजारा देखा गया. डीआरएम ने मरम्मत किये गये रेलवे लाइन का निरीक्षण भी किया.
बता दें कि 13 अगस्त को आयी बाढ़ में नरकटियागंज से हरिनगर स्टेशन के बीच रेलवे लाइन बाढ़ के पानी में बह गयी थी. पानी हटते ही रेलवे ने इस रेलखंड पर ट्रेनों के परिचालन की खातिर दिन-रात 400 मजदूरों को काम पर लगाया था. रेलवे लाइन मरम्मत कार्य का डीआरएम ने भी निरीक्षण किया था. इस रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन बंद  होने से 1 करोड़ 3 लाख के राजस्व की हानि रेलवे विभाग को हुई है.

Leave a Comment