in

अपहरण करने के बाद मारी गोलियां फिर चेहरे पर डाल दिया तेजाब, बेतिया की घटना

बेतिया: बानुछापर में एक युवक का अपहरण करने के बाद निर्मम तरीके से उसकी हत्या कर दी गई. मृत युवक ईद के दिन से ही अपने घर से गायब था.
हत्यारों ने निर्ममता की हद पार करते हुए पहले तो युवक को गोली मार दी फिर उसके चेहरे को तेजाब डाल कर बुरी तरह से जला दिया. घटना बानुछापर ओपी क्षेत्र के रेलवे गुमटी के पास स्थित महेन्द्र कॉलोनी की है जहां बुधवार की सुबह युवक का शव लोगों ने देखा.

अपहरण करने के बाद मारी गोलियां फिर चेहरे पर डाल दिया तेजाब, बेतिया की घटना 1

शव को देख कर लोगों ने पुलिस को इसकी सूचना दी. मृत युवक की पहचान बानुछापर के ही संजय पटेल के रूप में की गई है. बताया जा रहा है कि वो ईद के दिन से ही घर से गायब था जिसकी खोजबीन की जा रही थी.

बता दे की, शहर से सटे बानूछापर रेलवे ट्रैक के किनारे युवक का शव मिलने से बुधवार को सनसनी फैल गई. सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. युवक के चेहरे को तेजाब से झुलसा दिया था. सिर पर गंभीर चोट के निशान थे. शव की स्थिति देख प्रतीत हो रहा था कि हत्यारों ने कहीं और हत्या करने के बाद शव को यहां फेंक दिया था. फिलहाल पुलिस ने मामले में अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर इसकी छानबीन में जुट गई है. हत्या क्यों, कैसे और कहा हुई? पुलिस इसे पता लगाने की कोशिश कर रही है.

 युवक की हत्या कर शव फेंके जाने का मामला उस समय खुला, जब मुहल्ले के लोग बुधवार की सुबह ट्रैक के पास कूड़ा फेंकने गये थे. जहां युवक की लाश पड़ी देख लोगों ने फोन कर इसकी सूचना बानूछापर ओपी पुलिस को दी. सूचना मिलते ही ओपी प्रभारी याकूब अंसारी अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे. शव को चेहरा तेजाब से झुलसे होने के नाते इसकी पहचान में दिक्कत आ रही थी. शव की तलाशी के दौरान उसके जेब से सेलफोन बरामद हुई, जो ऑन मोड में थी.
 
पुलिस ने फोन के जरिए मृत युवक की शिनाख्त बानूछापर गोला के राकेश पटेल के पुत्र 25 वर्षीय सन्नी के रुप में हुई. पुलिस की सूचना पर मौके पर पहुंचे सन्नी के परिजनों ने भी उसकी पहचान की. बानूछापर ओपी प्रभारी ने बताया कि प्रथम दृष्टया मामला हत्या का लग रहा है. शव के सिर पर चोट के निशान है. ऐसे में अंदेशा लगाया जा रहा है कि सन्नी की हत्या गला दबाकर की गई है. हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही इसका पता लग सकेगा. फिलहाल अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर मामले की तफ्तीश की जा रही है.
रेलवे ट्रैक के किनारे फेंका गया था शव

बाइक चोरी के मामले में जेल जा चुका था सन्नी
बानूछापर रेलवे ट्रैक के पास मृत पड़े जिस युवक की पहचान में पहले पुलिस को मशक्कत करनी पड़ी, उसकी पहचान जब हुई तो वह एक बाइक चोर अपराधी निकला.
ओपी इंचार्ज याकूब अंसारी  की माने तो सन्नी पर बाइक चोरी के करीब दर्जनभर मामले दर्ज है. बानूछापर मुहल्ले से ही वर्ष 2016 में हुई दो बाइक की चोरी में सन्नी की संलिप्तता मिली थी. इस मामले में वह जेल भी जा चुका था. फिलहाल वह जमानत पर था. हालांकि नगर, मुफस्सिल व जिले की अन्य थाने में दर्ज बाइक चोरी के मामले में पुलिस को सन्नी की तलाश थी।।

What do you think?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इंतज़ार खत्म जुलाई से नरकटियागंज से महज 42km रह जाएगा रक्सौल…

मॉल में पौने दो लाख चोरी करते रंगे हाथ पकडाया, गिरफ्तार..