in

अतिक्रमणकारियों पर चला प्रशासन का बुलडोजर

अतिक्रमणकारियों पर चला प्रशासन का बुलडोजर 1
demo pic

बेतिया: नगर के अतिक्रमणकारियों पर में सोमवार को प्रशासन काफी सख्त नजर आया। शहर के मोहर्रम चौक से लेकर तीन लालटेन चौक तक संवाद लिखने तक अतिक्रमण हटाया गया। इस क्रम में सड़क किनारे की दुकानों व आवासों के आगे सड़क की भूमि पर लगाये गये छप्पर को तोड़ दिया गया। साथ ही आगे में सड़क की भूमि पर बनाये गये सीढि़यों को भी तोड़ दिया गया। उसके अवशेष को उठा कर जेसीबी के द्वारा टैक्टर टेलर पर लाद कर नगर परिषद ले जाया गया। इस क्रम में कहीं कही दुकानदार व अतिक्रमण हटा रहे पदाधिकारियों के बीच भी नोंकझोक भी होते रही। महिला थाना व इलाहाबाद बैंक के समीप भी नोकझोक हुई। सूचना पाकर दंडाधिकारी सह सीओ आमोद राज को भी पहुंचना पड़ा। अतिक्रमण हटाने के क्रम में अतिक्रमणकारियों में दहशत भी देखने को मिला। इस क्रम में नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी डा. विपिन कुमार, सिटी मैनेजर मोजीबुल हसन, जेई सुजय सुमन भारी पुलिस बल के साथ अतिक्रमण हटाने के लिए मशक्कत करते नजर आ रहे थे। अतिक्रमण के हटने के बाद से सड़कें चौड़ी दिख रही है। यहां बता दें कि यह अभियान चार फरवरी तक चलने की संभावना है। साथ ही आवश्यकता पड़ने पर आगे भी बढ़ाया जा सकता है। नप कार्यपालक पदाधिकारी श्री कुमार ने कहा कि अतिक्रमणकारी अगर अपने से अतिक्रमण हटा लेते है तो ठीक है अन्यथा उसे हटाया जाएगा। ताकि शहर को जाम से मुक्ति मिल सके।

जाम से हलकान रहा शहर, रेंगते रहे वाहन

बेतिया, संवाद सहयोगी : शहर के मुख्य सड़कों के अलावे गलियों की सड़कें भी सोमवार को जाम से हलकान रही। सड़कों पर वाहन रेंगते रहे। सड़क जाम का नजारा देख अपने वाहन को गलियों की ओर रूख किया लेकिन वहां भी उन्हें कोई राहत नहीं मिला। रविवार की छुट्टी के बाद सोमवार को सुबह-सुबह ही लोग अपने विभिन्न कामों से सउ़क पर निकले। दिन के करीब 10 बजते बजते वाहनों के दबाव से सड़के जैसे कराह उठी। चंद दूरी का सफर तय करने में भी लोगों को घंटों जाम से फसना पड़ा। जैसे-जैसे समय बढ़ता गया सड़क पर वाहनों का बोझ भी बढ़ा नतिजा सड़क जाम विकराल रूप में आ गया। तीन लालटेन चौक, लालबाजार, मीना बाजार, राजदेयोढ़ी की सड़के, महिला कॉलेज चौक, छावनी चौक, इमली चौक आदि इलाके में दिन भर भयंकर स्थिति में जाम रहा।

What do you think?

Written by Md Ali

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कब सुनेंगे स्थानिये साँसद और विधायक?..फिर से आक्रोशित हुए बेतियावासी।

क्या झूठ बोलते आ रहे है संजय जयसवाल?? अँधेरे में है बेतियावासी।