in

लोगो ने माँग की फिर साँसद ने पूरी की, फिर ऐसा क्या हुआ के लोगो को माँगनी पड़ी माफ़ी।

लोगो ने माँग की फिर साँसद ने पूरी की, फिर ऐसा क्या हुआ के लोगो को माँगनी पड़ी माफ़ी। 1

बगहा: ये पहली बार हो रहा हैं, के लोग सांसद से अपनी सुविधा के लिए कोई मांग करें,
और सांसद उस माँग को पूरा करदें, फिर लोगो को ये अपनी माँग एक गलती लगने लगे।
बता दे के गोरखपुर रेलखंड को दो भाग में बांट कर ट्रेनों को परिचालन करने की व्यवस्था आरंभ की गई तो बगहा एवं रामनगर के लोगों का जिला मुख्यालय से बरास्ते ट्रेन सीधा संपर्क भंग हो गया। अब यहां के लोगों को कोई ट्रेन चाहिए थी, जिससे उनका सीधा संपर्क जिला मुख्यालय से हो। मसलन, बेतिया जाने के लिए एक ट्रेन की दरकार थी। सो, यहां के लोगों ने अपने अपने ढंग से सांसद व अन्य जनप्रतिनिधियों के समक्ष अपनी मांगें रखीं। सांसद इस मांग को लेकर काफी गंभीरता दिखाए। उन्होंने कोशिश की और सफलता भी मिली। गोरखपुर से नरकटियागंज चलने वाली 55042 सवारी गाड़ी को गोरखपुर से बेतिया तक चलाने की अनुमति रेल मंत्रालय से मिली और वहीं सवारी गाड़ी 55079 बन कर बेतिया से गोरखपुर तक चलने लगी। दरअसल, यह सुविधा जब आरंभ हुआ तो लोगों को बड़ी प्रसन्नता हुई। लेकिन इस ट्रेन की लेट लतीफी के कारण अब खासा परेशानी हो रही है। प्राय: यह ट्रेन पांच- सात घंटे विलंब से चल रही है। इस वजह से इस ट्रेन से कोई लाभ नहीं हुआ। बल्कि नुकसान ही हुआ है। नरकटियागंज एवं रामनगर से 55079 की सवारी कर बगहा आने वाले दैनिक यात्रियों के लिए अब कोई ट्रेन नहीं है। इसी प्रकार सुबह में 55042 सवारी गाड़ी पकड़ कर रामनगर- नरकटियागंज जाने वालों के लिए कोई विकल्प नहीं बचा है। सो, जो लोग जिला मुख्यालय तक जाने के लिए एक ट्रेन की मांग कर रहे थे। वहीं लोग अब अपनी गलती के लिए क्षमा मांग रहे हैं। दैनिक यात्री संजय कुमार , मनोज महतो, प्रियरंजन कुमार, चंदन प्रसाद, राजन गुप्ता, मनोज मिश्र आदि का कहना है कि वह सबसे बड़ी भूल थी , जब हमलोगों ने बेतिया के लिए एक ट्रेन की मांग की थी। उल्लेखनीय है कि गत 21 मार्च से यह व्यवस्था सांसद सतीश चंद्र दूबे के प्रयास से लागू हुई थी। इस ट्रेन को बेतिया तक किया गया था। तब से कभी भी यह दोनों ट्रेन अपने नीयत समय से नहीं चली। प्रतिदिन चार से पांच घंटे विलंब ही चलती है।

 

साँसद को भेज गया माफ़ी पत्र
माननीय सांसद महोदय, वाल्मीकिनगर जिला मुख्यालय बेतिया जाने के लिए एक ट्रेन की मांग करना हम सभी की भूल थी। इसके लिए क्षमा चाहते हैं। यह ट्रेन कभी भी अपने नीयत समय से नहीं चलती है। इस वजह से सुविधा बढ़ने के बजाय बहुत बड़ी असुविधा हो गई है। वह हम लोगों की सबसे बड़ी भूल थी। हम लोगों को पता था कि इस रेल खंड में चलने वाली सभी ट्रेनें विलंब से चल रही है। ट्रेनों की टाइ¨मग में कोई सुधार होना नहीं है। ऐसे में इस ट्रेन के चलने से कोई फायदा नहीं है। प्लीज , सर अब इस ट्रेन को बंद करा दीजिए। संभव है तो पूर्ववत करा दें। ताकि कम से कम नरकटियागंज व रामनगर के लोगों को तो बगहा आने में सुविधा हो। बगहा व रामनगर के लोग तो समय से नरकटियागंज पहुंचे। — हम दैनिक रेल यात्री हैं


एक सप्ताह की समय सारणी
दिनांक ट्रेन विलंब

  • 13 अप्रैल 55042 छह घंटे
  • 13 अप्रैल 55079 आठ घंटे
  • 12 अप्रैल 55042 सात घंटे
  • 12 अप्रैल 55079 दस घंटे
  • 11अप्रैल 55042 पांच घंटे
  • 11 अप्रैल 55079 आठ घंटे
  • 10 अप्रैल 55042 आठ घंटे
  • 10 अप्रैल 55079 दस घंटे

What do you think?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बेतिया में पारा 40 डिग्री से पार, बिजली की मनमानी से लोग परेशान।

बेतिया क्रिकेट टीम ने सितामढ़ी को हराया।