in , , ,

अमृत योजना के तहत शहर में होगी शुद्ध जलापूर्ति, 97cr25lcs रुपये होंगे खर्च

बेतिया। शहर में अमृत योजना के तहत घर-घर में जलापूर्ति की कवायद शुरू हो गई है।

अमृत योजना के तहत शहर में होगी शुद्ध जलापूर्ति, 97cr25lcs रुपये होंगे खर्च 1

पाइपलाइन बिछाये जाने के बाद विभाग अब जलमिनार बनाने की ओर कदम बढ़ा दिया गया है। इसके लिए विभाग ने शहर के सात वार्डों को चयनित करने की प्रक्रिया पूरी कर ली है। इन वार्डों में जलमीनार बनाएं जाएंगे।

अमृत योजना के तहत शहर में होगी शुद्ध जलापूर्ति, 97cr25lcs रुपये होंगे खर्च 2

इसमें विभाग की ओर से 97 करोड़ 25 लाख रुपये खर्च करने की योजना बनी है। जलमिनार की स्थापना को लेकर बिहार राज्य जल पर्षद गंगा परियोजना ने नगर परिषद से चयनित स्थल के लिए एनओसी की मांग की थी।


इसके आलोक में नगर परिषद ने अपना राज प्रबंधन की ओर अनापति पत्र विभाग को सौंप दिया गया है।

अमृत योजना के तहत शहर में होगी शुद्ध जलापूर्ति, 97cr25lcs रुपये होंगे खर्च 3

इसके बाद विभाग के कार्यपालक पदाधिकारी अभिजीत कुमार के नेतृत्व में एक जांच टीम शनिवार को बेतिया पहुंची हुई थी। नप के कार्यपालक पदाधिकारी डा. विपिन कुमार, उप सभापति कयूम अंसारी, मिशन प्रबंधक मणि शंकर, अमित कुमार, राजरंजन आदि के साथ स्थल पर पहुंच कर निरीक्षण किया।


इस संदर्भ में कार्यपालक अभियंता अभीजीत कुमार ने बताया कि जल मिनार का निर्माण कार्य दो वर्ष के भीतर पूरा कर लेना है। शहर में 197.43 किलोमीटर पाइप बिछा दी गई है तथा बिछाने की प्रक्रिया लगातार जारी है। इसमें 18 टियूबवेल लगाए जाएंगे। जब बनकर पूरी तरह से तैयार हो जाएगा तो करीब 21 हजार 864 घरों में शुद्ध पेय जल की आपूर्ति किया जाएगा।

अमृत योजना के तहत शहर में होगी शुद्ध जलापूर्ति, 97cr25lcs रुपये होंगे खर्च 4

यहां बनेंगे जल मिनार

  • वार्ड 4 के घुसुकपुर स्थित शराब डिपो के पीछे ।
  • वार्ड 16 स्थित लिबट्री सिनेमा के पीछे।
  • वार्ड 29 स्थित मुक्ति डेम घाट अस्पताल के समीप।
  • वार्ड 36 नगर परिषद ऑफिस कैम्पस।
  • वार्ड 48 स्थित हजारी ग्राउंड।
  • वार्ड 04 शराब डिप्पो के पीछे।
  • वार्ड 6 उत्तरवारी पोखरा के पास बनाएं जाएंगे।

What do you think?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बड़ी ख़बर:: मार्च आखिर से बनेगा 86cr का छावनी ओवरब्रिज, नक्शा हुआ पास..आज की गयी रोड़ की नापी..

चंपारण के लाल आशुतोष ने किया कमाल, माया नगरी मुंबई में लहरा रहा सफलता का परचम..